Kuber Mandir

अगर आप kuber mandir के बारे में जानना चाहते हैं जो कि दुनिया में इस mandir को धन का देवता माना जाता है तो आप सही स्थान पर आए हैं।

Kuber mandir क्या है?

Kuber रावण के सौतेले भाई थे, जो की kuber को पूरे विश्व में धन का देवता माना जाता है, वैसे तो kuber mandir दुनिया में बहुत ही कम है पर kuber की पूजा हर कोई करना चाहता है।

अगर किसी के business, job या धन से जुड़ी समस्या हो रही होती है तो वह कुबेर की पूजा अवस्य करते हैं। इसके साथ साथ आपको यहां से सोने या चांदी के सिक्के मिलते हैं जो की वह सिक्का आपको अपने घर में पूजा के स्थान पर रखना होता है, इस से घर में धन की प्राप्ति होती है।

Famous Kuber Mandir In India

कहते है की यहां एक मुखी चमत्कारी सिवलिंग में भगवान शिव और भगवान विष्णु सक्ति रुप में विराजमान हैं और इस शिवलिंग में भगवान kuber का चेहरा उकरा हुआ है , इसके साथ साथ जब वहा के स्थानीय mandir के पुजारी ने बताया कि यहीं एक mandir है जो की इस शिवलिंग में भगवान शिव और भगवान विष्णु का वास है और इस शिवलिंग में भगवान kuber का मुख निकला है। यहां पर घूमने के लिए विदेश से भी लोग आते हैं।

यहां पर धनतेरस के दिन सबसे ज्यादा भीड़ लगती है, कहा जाता है की kuber mandir में पूजा करके यहां से अपने घर में चांदी के सिक्के ले जानें से कभी धन की कमी नही होती, दोस्तो कहा ये भी जाता है की यहां जो भी आता है उसे कभी जिंदगी में धन की कमी नही होती है।

Kuber कुंजी क्या है?

अगर आप अपने धनतेरस को और भी शुभ बनाना चाहते हैं तो आप अपने साथ कुबेर कुंजी ले जा सकते हैं, आप सोच रहे होंगे की ये कुबेर कुंजी है क्या तो दोस्तो जब इस खास मंदिर का निर्माण किया गया था तब इस mandir में पुजारियों द्वारा kuber का कुंजी निर्माण किया गया था, धन से जुड़ी सभी परेसानिया kuber कुंजी के दिव्य शक्तियों से खत्म हो जाती है।

धनतेरस में kuber कुंजी स्थापित करने से धन की कई गुना ज्यादा वृद्धि होती है धन का देवता kuber की स्वरूप होता है, और जहां kuber का वास होता है वहा धन का कोई कमी नही होती, अगर आप धनतेरस के दिन कुबेर की सिद्धी करते है तो आपको कभी धन लक्ष्मी की कमी नही होगी।

Kuber mandir Timing

Kuber mandir जाने के लिए धनतेरस में शुभ मुहूर्त माना गया है, यहां धनतेरस में भक्तो का भरी भीड़ लगती है और धनतेरस के दिन kuber जी का असीम सकती प्रदान होती है।

यह जागेश्वर धाम में स्थित है जो की यहां पर्यटक किसी न किसी साधन से पहुंच ही जाते है यह जानें के लिए आपको almora city से 35 km के दूरी पर स्थित जागेश्वर धाम पहाड़ी स्थानों में बसा है, यहां जानें के लिए आपको नजदीकी railway station kath godam से जागेश्वर धाम की दूरी 120 km है जो की केवल 4 से 5 घंटो में पहुंच सकते हैं। अगर आप by airoplane से जाना चाहते हैं तो यहां का नजदीकी हवाई अड्डा उधम सिंघ पंथ नगर सहर में है जो जागेश्वर धाम से करीब 150 km के दूरी पर है, सबसे अच्छी बात है की जितने भी पहाड़ी क्षेत्रों के mandir है उसे सड़क के मार्ग से जोड़ दिया गया है और जागेश्वर धाम को भी सड़क मार्ग से जोड़ दिया गया है।

अब बात करें अन्य शहरों से जानें की दूरी तो नैनी ताल से जागेश्वर धाम की दूरी करीब 100 km है, हरिद्वार से करीब 340 km है, देहरादून से जानें की दूरी 380 km, Delhi से जागेश्वर की दूरी 390 km और कानपुर से जानें की दूरी 490 km पड़ती है। अगर आप Delhi में है तो वहां से आपको आनंद विहार का bus जागेश्वर धाम के लिए मिल जाएगी। Delhi से यह करीब 400 km और bus से आपको 11 घंटे की समय लग जाती है, किराए की बात करें तो Delhi से अल्मोड़ा का किराया तकरीबन ₹540 रुपए पड़ता है। अगर आप air conditioner bus से जाते है तो यही किराया ₹1000 हजार से अधिक देना पड़ता है, uttrakhand पहाड़ी राज्य है इसलिए यात्रियों को सड़क मार्ग से ही जाना पड़ता है।

दूर से आने वाले लोगो को railway station या हवाई अड्डे से by taxi या by bus से ही जाना पड़ता है।

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *