सिद्धिविनायक मंदिर कौन से राज्य में स्थित है?

महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित सिद्धिविनायक भगवान श्री गणेश जी का सबसे फेमस मंदिरों में से एक है। इस मंदिर का एक अलग ही पहचान है इस लिए देश विदेशो से यहां घूमने भरी संख्या में लोग आते है।

सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई के पास कौन सा रेलवे स्टेशन है?

सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई के लिए कहां उतरना है?

श्री सिद्धिविनायक मंदिर जाने के लिए आपको सबसे पहले नजदीकि रेलवे स्टेशन दादर उतरना होगा। यहां से आपको प्लेटफार्म नंबर 1 से बाहर निकलना है। यहां से निकलने के बाद आपको दादर मार्केट दिख जायेगा इसके बाद आपको सामने एक टर्नल दिखेगा वो आपको पार करनी होगी और वहा से आपको सिद्धिविनायक मंदिर के लिए बस और टैक्सी मिल जायेगी। यहां से आपको ₹60 लगेगें पर पर्सन जो की आपको सिद्धिविनायक मंदिर के पास छोड़ेगी। यहां उतरने के बाद आपको 3 मिनट के लिए पैदल चल कर मंदिर के मुख्य द्वार की ओर जाना होगा।

क्या सिद्धिविनायक मंदिर में कैमरा लगाने की अनुमति है?

आपको बता दे की श्री सिद्धिविनायक मंदिर के नियम अनुसार कैमरा लगाने की अनुमति नहीं है यहां आप किसी प्रकार के शूट नही कर सकते है

सिद्धिविनयक मंदिर क्यों प्रसिद्ध है?

सिद्धिविनायक किस लिए प्रसिद्ध है?

दोस्तो आपने अपने घरों में देखा होगा की श्री गणेश जी का सूढ़ बाई तरफ़ से मुड़ी रहती हैं। पर यहां आप की खास बात यह है की गणेश जी का सूढ़ दाई तरफ़ से मुड़ी है जो की सिद्धि बीम से जुड़ी रहती है इस लिए इसे सिद्धिविनायक मंदिर कहा जाता है। इसलिए यहां दुनियाभर के लोग घूमने आते हैं। माना जाता है की यहां स्वयं भगवान गणेश जी की मूर्ति स्थापित है यहां प्रतिमा नहीं रखी गई है। दोस्तो दुनिया का इकलौता यह ऐसा मूर्ति है जो की स्वयं प्रकट के साथ साथ गणेश जी का सुड दाई ओर से मुड़ी नजर आएगी।

Kya Siddhivinayak Mandir me ekchaye purn hoti hai

क्या सिद्धिविनायक मंदिर में इच्छाएं पूरी होती हैं?

मुंबई में स्थित श्री गणेश जी की मूर्ति सिद्धि पीठ से जुड़ा हुआ है इस लिए इस मंदिर का नाम सिद्धिविनायक मंदिर रखा गया है माना जाता है की जिस मूर्ति का सुड दाई तरफ से मुड़ा रहता है वहां कोई भी मनोकामना जल्द पूर्ण होती है। इस मंदिर का निर्माण मूल रुप से 19 नवंबर 1801 में किया गया था। इस मंदिर के गर्भ गृह में श्री सिद्धिविनायक के छोटे से मूर्ति में स्थापित किए गया है। यहां गणेश जी की मूर्ति के बगल में रिद्धि और सिद्धि की भी प्रतिमा मौजूद है।

यहां दर्शन कराने के लिए हर मंगलवार को इतनी ज्यादा भीड़ हो जाती है की दर्शन करने के लिए 3 से 4 घंटे के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ता है तब जाकर यहां दर्शन हो पाते है।

सिद्धिविनायक दर्शन का टिकट कैसे बुक करें?

सिद्धिविनायक दर्शन के लिया आपको अपने फोन, लैपटॉप या कंप्यूटर में से किसी एक में टाइप करना है “siddhivinayak.org” इसके बाद आप जैसे ही इंटर प्रेस करेंगे आपको इस मंदिर का वेबसाइट दिखने को मिल जायेगा। खुलने के बाद आपको बहुत सारी ऑप्शन दिखने को मिल जाएगा पर उन ऑप्शन में आपको temple b seva पर क्लिक करना है एसके बाद और भी ऑप्शन दिखने को मिलेंगे जिनमे एक ऑप्शन “online Puja dating app” दिया होगा।

इस app में आपको ऑनलाइन पूजा से लेकर प्रसाद तक का सारी जानकारी दिखने को मिल जायेगी।

Siddhivinayak Mandir Aarti

सिद्धिविनायक की आरती कितने बजे है?

सिद्धिविनायक मंदिर की आरती की बात करें तो यहां पर दर्शन करने वाले श्रद्धालु के जैसे भिड़ रहती है वैसे ही आरती में भी भरी मात्रा में लोग पहुंचते हैं और अपनी श्रद्धा भक्ति का पाठ गुनगुनाते हैं। यहां पर आरती दो टाइम होता है।

  • सुबह में आरती का timing 5:30 AM से 6:00 AM तक रखा गया है।
  • साम में आरती का timing 7:30 PM से 8:30 PM तक रखा गया है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *