Ayodhya Ram Mandir

Ayodhya Ram Mandir

Ayodhya Ram Mandir Utter Pradesh  के उत्तरी राज्य में बसा है। ayodhya नगरी हिंदुओ के लिए एक बड़ा स्थान है जो की यहां आने के लिए श्रद्धालु उत्सुक रहते है।

यह mandir श्री Ram के जन्मभूमि पर है , जहा Ram की जन्म से लेकर पीढ़ियों तक राज किया , यह mandir वही स्थित है।

यह mandir Lucknow से 135km के दूरी पर स्थित अपने सांस्कृतिक वातावरण के साथ स्थित एक लोकप्रिय मंदिर है, इसके साथ साथ यह पूर्वजों का जन्मभूमि भी माना जाता है।

जब कोई श्रद्धालु अयोध्या की गलियों से गुजरता है तो उसे ये जरूर महसूस होता है की हम श्री ram की जन्म भूमि स्थल पर आए है , यहां Ram Mandir का दर्शन करने दूर दूर से लोग आते है।

यह mandir कई सालो से सामाजिक और कानूनी विवाद से जुड़ा हुआ है , अगर आप history के बारे में जानना चाहते है तो आप इस website पर Ram Mandir की history के बारे में पूरी जानकारी ले सकते है।

Ram Mandir की सालो से चलती विवाद को 2019 में supreme court के अनुसार ऐतिहासिक फैसले के साथ समाप्त हुआ, जिससे हिंदू समाज के लिए बहुत बड़ा शुभ दिन रहा, और हिंदुओ के लिए एक बहुत बड़ा जीत हासिल हुआ।

आज करोड़ों हिंदुओ के श्रद्धालु स्थान बना हुआ है, जो की पहले से और भी ज्यादा यहां श्रद्धालु आने लगे है।

यहां आने वाले श्रद्धालु भगवान श्री Ram की दर्शन के साथ साथ mandir की इमारत से भी रूबरू होते है जो की नई मंदिर का काम 2024 तक पूरा किया गया और इसके साथ 22 January को भगवान श्री ram की मूर्ति स्थापित हुआ जो की देखकर लोग मोहित होजा रहे है।

इस mandir में other country से आने वाले श्रद्धालु की गिनती पहले के मुकाबले अभी ज्यादा हो गई है, अगर पहले foreigner की फीसदी 20% था, तो वही अब बढ़ के 30% हो गया है और आगे भी foreigner की आने वाली संख्या बढ़ती जा रही हैं।

अगर आप Ayodhya Ram Mandir की भूमि पर नहीं गए है तो एक बार जरूर जाए , हो सके तो आप अपने family के साथ जाए।

यहां भक्ति में जो श्रद्धा रखते है , वो इस जगह पर आकर अपनी तीर्थ यात्रा सफल बनाते है, अगर आप भी ऐसी जगह ढूंढ रहे तो इससे ज्यादा सुंदर जगह और क्या ही होगी।

इस मंदिर में मूर्ति की तारीफ के साथ साथ लोग मंदिर की बनावट से भी रूबरू हो रहे, क्यू की मंदिर के साथ साथ Ram Mandir के दीवारों पर भी design बनाया हुआ है जो की देखने में बेहद खूबसूरत है।

Ram Mandir Ayodhya भगवान श्री ram का भूमि है जहां भगवान श्री ram की सारी पीढ़ी राज किया बाद में यहां बाबर ने कब्जा जमा लिया था। पर अब ये mandir फिर से हिंदु भाई के लिए सनातन का मसीहा बन गया है। जो की 22 january 2024 को भगवान श्री ram की प्राण प्रतिष्ठा की गई। Ramayan के भगवान श्री ram की पुजा हिंदू तो करते ही हैं पर शास्त्र के अनुसार श्री ram की पुजा हर धर्म के लोग कर सकते हैं। क्यो की भगवान श्री ram हर धर्म के लोगो के पक्ष में थे। Ram के नाम में ही सक्ति है अगर आप ram की नाम ले लिया तो आधी आपकी दुनिया का दर्द वैसे ही मिट जाना है।

Ayodhya Ram Mandir Murti

Ayodhya Is Located On The Banks Of Which River

बात करे नदियों की तो भारत में लगभग 200 नदिया मौजूद है, इनसे से कई नदिया पवित्र माना जाता हैं जो की इनमे स्नान करने से पवित्र माना जाता है।

ऐसी कई नदिया है जिनमे स्नान करना बेहद फलदाई माना जाता है इनमे ganga, yamuna, godawari जैसी नदियों में स्नान करना बेहद पवित्र माना जाता है , वही बात करे sarayu नदी की तो भगवान श्री Ram की जन्म से लेकर वनवास तक शाक्षी रही है।

अगर sarayu नदी की वर्णन न हो तो ayodhya नगरी की गाथा अधूरी रह जायेगी क्यू की sarayu नदी प्रभु श्री ram की जन्म से लेकर वनवास और वैकुंठ तक शाक्षी रही है।

Ram mandir की बात तो हर जगह चर्चित में है , अब इनमे sarayu नदी की गाथा न किया जाए तो Ayodhya अधुरी रह जायेगी।

आइए जानते है ayodhya की sarayu नदी की कहानी – sarayu नदी वैविदकालीन नदी है। जिसका उल्लेख रीड वेद में भी मिलता है sarayu नदी भगवान श्री विष्णु के नेत्रों से प्रकट हुआ है।

Sarayu नदी sarda नदी की सहायक नदी है। इसलिए इसे sarayu नदी कहा जाता हैं, sarda नदी से चलकर sarayu नदी Utter Pradesh के नगर से गुजर कर ayodhya पहुंचती है।

यह नदी Himalaya से निकलकर गुजरती है। इसका उल्लेख वेद , रामायण, और पुराणों मे है।

Designing Of Ram Mandir In Ayodhya

यह mandir Chandrakant Sompura और उनके बेटे ashish के द्वारा design किया गया है। यह mandir vastu Shastra के द्धारा nagara style में बनाया गया है।

Ayodhya Ram Mandir Opening Date 2024

Ayodhya mandir के लिए 500 वर्ष समय इंतजार करने के बाद utter pradesh के मुख्य मंत्री ने घोषित किया की हमलोगों के लंबे वर्ष इंतजार करने के बाद एक बार फिर हमलेगो के पुरषोत्तम श्री ram जन्म भूमि का स्थापन 22 january 2024 को होगा जो की देश के साथ साथ विदेशो के लोग यहां आकर दर्शन करेंगे।

Ayodhya Ram Mandir Murti

Ayodhya Ram Mandir Murti

Ram Mandir Ayodhya में मुख्य mandir के अंदर भगवान श्री ram की 3 प्रतिमा बनाई गई है और यह तीनो मूर्ति भगवान श्री ram की है।

पहली मूर्ति की बात करें तो इस मूर्ति को शालिग्राम पत्थर से बनाया गया है जो की काले रंग की है और देखने में बेहद खुबसूरत तथा मनमोहित है।

दूसरी प्रतिमा चांदी की बनी है और इसकी चमक श्रद्धालु की मन को मोहित कर देती है।

तीसरी प्रतिमा की बात करें तो यह प्रतिमा बाल रूप का है जो की भगवान श्री ram की बाल रूप के आधार पर बनाया गया है।

यह तीनो मूर्ति गर्भ गृह में स्थापित है पर 5 वर्ष बालक के रूप में दिखने वाली मूर्ति ही मुख्य में होगी। यह मूर्ति श्याम रंग की बनाई गई है क्यों की प्रभु श्री ram को विष्णु का अवतार माना जाता है। शालिग्राम पत्थर अक्सर नेपाल के गंडक नदी में पाया जाता है। प्रभु श्री ram की मूर्ति की ऊंचाई सवा 4 फिट की है और चौड़ाई 3 फिट यानी 36 इंच है। श्री ram की प्रतिमा की वजन 200 किलो है।

Mandir में चांदी से बनी प्रतिमा की वजन करीब 10 किलो का है और प्राण प्रतिष्ठा के द्धारा शालिग्राम प्रतिमा के स्थान पर चांदी की मूर्ति से फेरी लगाया गया क्यो की शालिग्राम पत्थर से बनी मूर्ति की वजन अधिक थी।

अब हमलोग श्री ram मूर्ति के निचले और दाई बाई की ओर बनी प्रतिमा के बारे में जानेंगे। प्रभु श्री ram जिस स्थान पर खड़े हैं वो स्थान कमल के फूल के आकार का बना है, इसके साथ साथ निचले हिस्से के दाई ओर प्रभु हनुमान जी को दर्शाया गया है और बाई ओर श्री विष्णु को दिखाया गया है एसके साथ साथ इस प्रतिमा में श्री विष्णु को 10 अवतार में दिखाया गया है। प्रभु श्री ram विष्णु का 7 वे अवतार दर्शाया गया है एसके साथ इस प्रतिमा में प्रभु श्री ram के सिर के ऊपर सूर्य देव को दिखाया गया है। कहा जाता है की भगवान श्री ram सूर्य देव थे इसलिए उनके प्रतिमा में सूर्य दिखाया गया है एसके साथ साथ प्रतिमा में संख, चक्र, स्वास्तिक और गदा दिखाया गया है।

Ram Mandir Ayodhya Prasad

Ram Mandir में प्रसाद देने के लिए ” राम विलास और सस कंपनी” को सौंपा गया है प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर ये कंपनी 5 लाख की पैकेट तैयार करेगी, प्राण प्रतिष्ठा में आए हुए भक्तो को इलाइची से बने खास तरह का प्रसार दिया जाएगा।

Similar Posts

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *